मेरी क़लम - Meri Qalam - میری قلم ...

Monday, January 20, 2014

सोशल मीडिया और हमारी युवा पीढ़ी :

सोशल मीडिया और हमारी युवा पीढ़ी :
कुछ देर पहले एक पोस्ट पर नज़र पढ़ी ! एक दम वाहियात और बिना सर पैर की बातें लिखी गयी थी ! मुझ से रहा नहीं गया, तो मैंने पोस्ट करने वाले बन्दे से पूछ ही लिया, की भाई ये पोस्ट आपने लिखी है ? 
उसने कहा नहीं भाई, हमारा इल्म इस टाइप की पोस्ट लिखने लायक़ नहीं है... ! ये तो मैंने किसी की वाल से ढापी है !
ये है आज का कॉपी पेस्ट और फॉरवर्ड कल्चर ! जहाँ भी देखो हालत यही है !
हमारे युवाओं ने सोशल मीडिया की बेंड (बम्बईया भाषा में) बजा के रख दी !
फेसबुक हो, वाट्सअप हो या कोई और सोशल मीडिया, सब जगह इन्ही कॉपी पेस्ट और फॉरवर्ड मेसेजों की भरमार है !
ये मेसेज 10 को भेजो, इस पोस्ट को 11 लोगो से शेयर करो, करोगे तो ये होगा, नहीं करोगे तो वो होगा, अच्छी भली फोटो को एडिट और फोटोशॉप कर के कुछ का कुछ बना कर यहाँ वहां भेजना .... ! ये फला दानिश्वर का कौल है, ये फला शायर के शेर हैं !

अरे भाई ज़रा 2 मिनट निकाल कर पहले चेक तो कर लो की हकीक़त क्या है !
इधर मेसेज, पोस्ट आया... अगले ही पल फॉरवर्ड/पेस्ट ... काम ख़तम ! हो गया हक़ अदा !!

दोस्तों ! क्या सोशल मीडिया इन्हीं सब कामों के लिए है ?

No comments:

Post a Comment