मेरी क़लम - Meri Qalam - میری قلم ...

Saturday, July 17, 2010

पहली पोस्ट

अस्सलामु अलय्कुम वा रहमतुल्लाही वा बराकातुह !


काफी दिनों से सोच रहा था की हिंदी में एक ब्लॉग बनाऊं और कुछ लिखना शुरू करूँ.

बहुत कशमकश में था की हिंदी में ब्लॉग कैसे बना पाऊंगा. पर अल्हम्दुलिल्लाह सलीम भाई की मदद से यह भी हल हो गया.

मैंने अपने ब्लॉग के नाम पर भी काफी सोचा, और आख़िरकार "मेरी क़लम" को लाइव कर दिया.

No comments:

Post a Comment